बादलों के पार

बादलों के पार

कभी कभी मन में आता है कि इन साधारण पर अद्भुत दिखने वाले बादलों के पार क्या होगा? कभी इनके नीचे खड़े होकर देखो एक अलग ही ठंडक,एक अलग ही शांति का अनुभव होगा। आसमान में उड़ते पंछियों के साथी ये बादल न जाने कितने मीलों दूर का सफर तय करते हैं। वायु बादलों की मित्र है।जब इन दोनों की जुगलबंदी होती है तो परिंदो कि चहचाहट और वृक्षों के पत्तो कि आवाज़ से जब प्रकृति अपना अद्भुत और सुरीला संगीत रचती है तो वातावरण असीम खुशी देने वाला एक फरिश्ता बान जाता है।धरती पर मौजूद मनुष्य के लिए भी यह एक सुखद अनुभव है। वात्सल्य के लिए ये ना जाने इस शाश्वत आकाश के केनवास पर कितनी आकृति उकेरते हैं।वर्षा के रूप में बरसते ये बादल युवाओं के मन की अद्वितीय खुशी है। बुजुर्गों के लिए ये बादल वर्षा से उत्पन्न मिट्ठी कि सौंधी खुशबू का प्रतीक है। सचमुच ये बादल और इनके पार कि दुनिया अद्भुत, अविश्वसनीय,अकल्पनीय है। अपने गंतव्य की ओर जाते हुए ये बादल हम सभी को एक सुखद एहसास देना कभी नहीं भूलते।

By Avani

This Post Has One Comment

  1. Aniketkarmata

    Awesome,very nice

Leave a Reply